#MNN@24X7 पटना। बिहार में भोजपुरी गीत लोगों को तो खूब पसंद आते हैं लेकिन इन गानों पर अश्लीलता फैलाने के भी आरोप लगते हैं. भोजपुरी में अक्सर जाति को लेकर गाने गाए जाते हैं. चोली-लहंगा शब्द इस्तेमाल कर डबल मीनिंग वाले गाने गाए जाते हैं. इसे लेकर काफी बवाल मचता है. कुछ गानों में तो काफी अश्लील और आपत्तिजनक शब्दों का भी इस्तेमाल किया जाता है. इन गाने को लेकर अब सियासी गलियारों में भी हलचल है. बिहार विधानसभा में बजट सत्र चल रहा है. इस दौरान भोजपुरी के अश्लील गाने का मुद्दा सदन में भी उठाया गया है. बुधवार को कांग्रेस की एक विधायिका प्रतिमा दास ने ये मुद्दा सदन में उठाया है.

प्रतिमा दास ने सरकार से पूछे सवाल।

भोजपुरी फिल्म और भोजपुरी एल्बम में अश्लीलता को लेकर बिहार विधानसभा में एक महिला विधायक ने इस मुद्दे को ध्यानाकर्षण में लाया है. कांग्रेस की महिला विधायक प्रतिमा दास ने सरकार से सवाल पूछा था कि जिस तरह के अश्लील गीत बनाए जा रहे हैं, उसमें कोई रोक-टोक ही नहीं है. भोजपुरी गायक अश्लीलता की हद पार करते हुए भोजपुरी गीत गा रहे हैं, जिसे समाज और परिवार के साथ सुनना शर्मिंदगी की बात हो गई है. महिला विधायक ने पूरी प्राथमिकता के साथ इस मुद्दे को उठाया है. हालांकि सरकार की ओर से आश्वासन भी दिया गया है कि इस मुद्दे को लेकर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

अश्लील भोजपुरी गीत।

बिहार में युवाओं की जुबान पर भोजपुरी गीत चढ़कर बोलता है. त्योहार से लेकर शादी में भी गाने बजते हैं. हालांकि कुछ सॉन्ग्स ऐसे बनाए जाते हैं जिसमें किसी जाति समुदाय को लेकर टारगेट किया जाता है. कभी-कभी तो देश और बिहार के वरिष्ठ नेताओं को गाली देकर गाने बनाए जाते हैं. इसे लेकर बवाल भी मचता है. भोजपुरी गीत में होती अश्लीलता को लेकर कई बार विवाद भी होता है. कुछ दिन पहले ही एक सिंगर पर प्रधानमंत्री, गृह मंत्री से लेकर बिहार के कई नेता को लेकर अभद्र टिप्पणी वाले गाने बनाने पर बवाल हुआ है. इसके लिए भोजपुर में मामला दर्ज भी किया गया है।

Web development Darbhanga