74 में गणतंत्र दिवस पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफ़ेसर सुरेन्द्र प्रताप सिंह द्वारा विश्वविद्यालय के दिवंगत कर्मियों के 23 पाल्यों को दी नियुक्ति पत्र।

#MNN@24X7 दरभंगा। आज का दिन पूरे भारतवासियों के लिए सम्मान एवं गौरव का दिन है। गणतंत्र दिवस हमें बतलाता है कि नियमानुसार हम जो कुछ भी करना चाहते हैं, उसकी हमें स्वतंत्रता है। हम अपने मताधिकार का प्रयोग कर अपने नेता चुन सकते हैं। हम देश में कैसी शासन, सत्ता या सरकार चाहते हैं, उसे अपनी पसंद से चुनने का हमें मताधिकार प्राप्त है। उक्त बातें ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा के कुलपति प्रोफेसर सुरेन्द्र प्रताप सिंह ने 74 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर विश्वविद्यालय मुख्यालय में झंडोत्तोलन के उपरांत अपने संबोधन में कही।

उन्होंने गणतंत्र दिवस की बधाई एवं शुभकामना देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय बहुत बड़ा परिवार है, जहां उन लोगों का संगम होता है, जिनकी बुद्धि- विवेक परिपक्व हो चुकी है और जो अत्यधिक ऊर्जा एवं बदलाव की क्षमता रखते हैं। विवेकवान एवं ऊर्जावान दोनों का संगम विश्वविद्यालय के अलावे अन्यत्र दुर्लभ है। इस लीडरशिप तथा बदलाव की क्षमता का प्रयोग इसी बिहार में जयप्रकाश नारायण ने सिद्ध कर दिखाया था। अपनी विवेक से दिशा दिखाने वाले तथा उसपर चलने वाले युवाओं का जब गठजोड़ होता है, तभी सही बदलाव भी होता है। बदलाव के लिए दोनों शक्तियों का होना जरूरी है। यद्यपि जब भी परिवर्तन होते हैं तो कुछ लोग या वर्ग उसे आसानी से नहीं स्वीकारते हैं या उसमें शामिल नहीं होना चाहते हैं। ऐसी नकारात्मक शक्तियों को प्रतिरोध देने की जरूरत होती है, जिसके लिए युवाओं की सही शक्ति आवश्यक है। फिर एक मार्ग बनाने की जरूरत होती है, जिस पर आगे चलकर लक्ष्य प्राप्त किया जा सके।
विवेकवानन एवं ऊर्जावान दोनों शक्तियों को सोचना है कि हमारी ऊर्जा नकारात्मकता के लिए नहीं, बल्कि सकारात्मकता के लिए है। यदि हम एक बनाकर आगे चलते हैं तो सभी नकारात्मक शक्तियां स्वत: पराजित हो जाती हैं। आज के दिन हमें संकल्प लेने की जरूरत है कि हमें नया एवं बेहतरीन मार्ग निकालकर उस पर चलना है।

कुलसचिव प्रोफेसर मुश्ताक अहमद ने पूरे देशवासियों को 74 वें गणतंत्र दिवस की शुभकामना देते हुए कहा कि हमें अपने अधिकारों के साथ ही कर्तव्यों का भी पूरी तरह पालन करना चाहिए, तभी विश्वगुरु बनने की ओर अग्रसर भारत का हम सब भी हिस्सा बन सकेंगे। कुलसचिव ने बताया कि विगत तीन वर्षों में विश्वविद्यालय द्वारा कुल 81 पाल्यों को नियुक्ति पत्र दिया गया है। आज कुलपति प्रोफेसर एस पी सिंह द्वारा विश्वविद्यालय के दिवंगत कर्मियों के 23 पाल्यों को नियुक्ति पत्र दिया गया है। हमें उम्मीद है कि ये सभी नवनियुक्त कर्मी अपनी पूरी क्षमता एवं श्रम से विश्वविद्यालय में बेहतर कार्य करेंगे।

इस अवसर पर प्रति कुलपति प्रोफेसर डॉली सिन्हा, संकायाध्यक्ष, विभागाध्यक्ष, सीनेट और सिंडिकेट सदस्य, प्रधानाचार्य, विश्वविद्यालय के पदाधिकारी, शिक्षक- शिक्षकेतर कर्मी, छात्र- छात्राएं तथा एनसीसी केडेट्स एवं एनएसएस स्वयंसेवकों आदि उपस्थित थे। झंडोत्तोलन के अवसर पर विश्वविद्यालय संगीत एवं नाट्य विभाग की अध्यक्षता प्रो पुष्पम नारायण के नेतृत्व में विभाग के छात्र- छात्राओं ने राष्ट्रगान तथा देशभक्ति गान प्रस्तुत किया।

Web development Darbhanga